Saturday, August 13, 2022
HomeHindi Nibandhईंधन संरक्षण पर निबंध | Essay on Fuel Conservation In Hini

ईंधन संरक्षण पर निबंध | Essay on Fuel Conservation In Hini

 

Essay on Fuel Conservation In Hini: इस लेख में, हमने ईंधन संरक्षण पर एक निबंध प्रकाशित किया है, इसकी परिभाषा और भविष्य की पीढ़ियों के लिए ईंधन बचाने के सुझावों के साथ?

 

परिचय

भगवान ने हमें बहुत कुछ दिया है। उन्होंने हमें प्रदान किया, जानवरपेड़, पौधे, और यह दुनिया। मनुष्य इस संसार में अनेक आवश्यक तत्वों पर निर्भर है। इन सबके लिए ईंधन भी एक जरूरी चीज है।

इस दुनिया में ऊर्जा का सबसे महत्वपूर्ण स्रोत ईंधन है, जिसका उपयोग केवल एक बार किया जा सकता है, और हमारे पास यह सीमित मात्रा में है। इसलिए हमें इसका संरक्षण करना होगा और ईंधन के स्थान पर ऊर्जा के नए स्रोतों जैसे पेट्रोल, डीजल, मिट्टी के तेल आदि की तलाश करनी होगी।

 

दुनिया में सबसे ज्यादा ईंधन की खपत निजी वाहनों से होती है। हम निजी कारों के उपयोग को कम करके और बिजली की बचत करके ईंधन का संरक्षण कर सकते हैं। हम सभी को ईंधन का संरक्षण करना होगा ताकि आने वाला युग भी इसका लाभ उठा सके। ईंधन के बिना मानव जीवन का अस्तित्व बहुत जटिल हो जाता है।

रासायनिक या परमाणु प्रतिक्रिया के माध्यम से गर्मी और ऊर्जा में गोला बारूद का उत्पादन होता है। शक्ति ईंधन द्रव्यमान के एक भाग का परिवर्तन है। आज के समय में चिंतन का विषय है कि ईंधन की खपत अधिक है, जबकि ईंधन हमारे लिए सीमित है।

ईंधन क्या है?

ईंधन वह पदार्थ है जो ऑक्सीजन के साथ मिलकर ऊष्मा उत्पन्न करता है। ठोस ईंधनों में लकड़ी, पीट, लिग्नाइट और कोयला प्रमुख हैं। पेट्रोलियम, मिट्टी का तेल और गैसोलीन तरल ईंधन हैं। गैसीय ईंधन में कोयला गैस, स्टीम-एम्बर-गैस, तरलीकृत पेट्रोलियम गैस (एलपीजी) और प्राकृतिक गैस आदि प्रमुख हैं।

 

वैज्ञानिक और सैन्य कार्यों के लिए उपयोग किए जाने वाले रॉकेट में अल्कोहल, अमोनिया और हाइड्रोजन जैसे कई रासायनिक यौगिकों को भी ईंधन के रूप में उपयोग किया जा सकता है। ये पदार्थ बहुत जल्दी ऊर्जा देते हैं।

विद्युत ऊर्जा भी गर्मी हासिल करने में मदद कर रही है, इसलिए यह ईंधन से भी मिल रही है। वर्तमान में परमाणु ऊर्जा का उपयोग शक्ति के स्रोत के रूप में भी किया जाता है, इसलिए विखंडनीय सामग्री को अब ईंधन के रूप में भी माना जाता है।

आने वाली पीढ़ियों के लिए ईंधन कैसे बचाएं?

बढ़ती तकनीक और बदलती जीवन शैली के साथ, पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस और कोयले जैसे ईंधन की खपत कई गुना बढ़ गई है। हालाँकि, इनमें से अधिकांश वर्तमान में बहुतायत में उपलब्ध हैं, और उनमें से कई गैर-नवीकरणीय ईंधन हैं।

फिर भी, अगर हम उन्हें उसी गति से उपयोग करना जारी रखते हैं, तो वे बहुत जल्द समाप्त हो सकते हैं। आने वाली पीढ़ियों के लिए ईंधन बचाने में हम कैसे योगदान दे सकते हैं, इस पर कुछ बेहतरीन विचार यहां दिए गए हैं।

1. ईंधन संरक्षण में महिलाओं की भागीदारी

क्या ईंधन बचाना जरूरी है? गृहणियों को जागरूक कर हम रसोई गैस की बचत कर ईंधन की बचत कर सकते हैं। हमें कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना चाहिए जिससे गैस की बचत हो सके।

 

हम निम्नलिखित बातों को ध्यान में रखकर ईंधन की बचत कर सकते हैं। प्रेशर कुकर में ही पकाएं, खासकर ऐसी चीजें जिन्हें पकाने में लंबा समय लगता है, जैसे दाल, मीट आदि। प्रेशर कुकर के साथ मिली बुकलेट में दिए गए खाना पकाने के समय के अनुसार चीजों को पकाएं।

अधिक खाना पकाने से उसका पोषण मूल्य नष्ट नहीं होगा और 50% से अधिक एलपीजी गैस की बचत होगी। गैस-स्टोव बर्नर की सफाई समय-समय पर करते रहें ताकि उसकी लौ सही से निकलती रहे, इससे खाना जल्दी पक जाएगा और गैस की बर्बादी भी नहीं होगी।

खाना पकाने के बाद गैस सिलेंडर के रेगुलेटर को बंद करना न भूलें, ताकि किसी तरह के रिसाव के कारण गैस बर्बाद न हो और साथ ही किसी प्रकार की दुर्घटना का भी भय न हो।

2. परिवहन के साधनों का पर्याप्त रूप से उपयोग करके ईंधन संरक्षण

अगर आपको अपनी कार को लंबे समय तक रोकना है, जैसे ट्रैफिक सिग्नल या रेलवे क्रॉसिंग, तो आपको अपनी कार का इंजन बंद कर देना चाहिए। क्योंकि इंजन चालू रखने से ईंधन की बर्बादी होती रहती है। ऐसे में यदि आप सावधानी बरतें तो वाहन में ईंधन की खपत को लगभग 20% तक कम किया जा सकता है।

मध्यम गति से ड्राइव का प्रयोग करें और ईंधन के प्रति जागरूक बनें। इलेक्ट्रिक और हाइब्रिड कारें भी उपलब्ध हैं। तो उनका इस्तेमाल करें। वाहन चलाते समय अपनी कार की गति का पूरा ध्यान रखें।

आपको बता दें कि 40 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गाड़ी चलाना; 80-100 की गति से, ईंधन की खपत 30-40% तक बढ़ जाती है। तो उचित गियर न केवल आप अपनी कार का माइलेज सही रखेंगे, बल्कि आपका जीवन भी सुरक्षित रहेगा।

3. अधिक सामान न रखें

कार के फ्यूल कंजम्पशन सिस्टम पर कार में रखे वजन का पूरा असर होता है। लोग अक्सर अपनी कारों में जरूरत से ज्यादा सामान लेकर चलते हैं। इसलिए हमेशा अपने वाहन में जरूरत से ज्यादा सामान ही न रखें।

वायुगतिकीय डिजाइन का ध्यान रखें, वाहन पर असंबंधित बाहरी सामान न लगाएं। अनावश्यक भार न उठाएं। कार में 50 किलो वजन कम करके ईंधन की खपत को 2% तक कम किया जा सकता है।

4. वाहन की सर्विसिंग करके ईंधन बचाएं

 

बहुत से लोग महीनों तक अपने वाहन की सर्विस नहीं करवाते जो कि गलत है, जिससे वाहन का माइलेज काम करता है, और ईंधन भी अधिक जलता है। इसलिए हम समय-समय पर अपने वाहनों की सर्विसिंग करते हैं, और ईंधन संरक्षण में मदद करते हैं। एयर फिल्टर को साफ करना सुनिश्चित करें।

इस कारण अधिक से अधिक ईंधन की खपत होती है। ईंधन की खपत पर कार के टायरों (पहिए) का आकार और दबाव भी बहुत मायने रखता है। कार को अच्छा लुक देने के लिए लोग कार को मॉडिफाई करते हैं, जिससे इंजन चलाने के लिए ज्यादा फ्यूल बर्न करता है। अपनी कार के पहियों का उपयोग करने का प्रयास करें, जो कंपनी द्वारा दिए गए हैं।

वाहन के टायर में उचित दबाव बनाए रखें। वाहन सेवा अवधि में इंजन ऑयल बदलें क्योंकि गंदा इंजन ऑयल इंजन घर्षण को बढ़ाता है और ईंधन की बर्बादी को बढ़ावा देता है।

 

5. घरेलू उपकरणों का प्रयोग सावधानी से करें

आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आप विभिन्न ईंधनों पर चलने वाले सभी उपकरणों का मज़बूती से उपयोग करते हैं। कमरे में ताला लगाते समय लाइट बंद करना, धीमी आंच पर खाना बनाना, टीवी बंद कर देना, गीजर का इस्तेमाल न करने पर कारपूलिंग जैसी साधारण चीजों से फर्क पड़ सकता है।

 

6. ऊर्जा कुशल उपकरणों का उपयोग करके स्मार्ट बनें

कई ऊर्जा कुशल उपकरण हैं। ईंधन बचाने के लिए आपको ऐसे उपकरणों का उपयोग करना होगा। इसका एक सामान्य उदाहरण सीएफएल है। लगभग हर घर में बिजली बिल का 20% घर में पुराने बल्बों के इस्तेमाल से आता है। पुराने जमाने के साधारण बल्ब बिजली की बहुत अधिक खपत करते हैं, और उनकी कम रोशनी भी आंखों के लिए खतरा है।

 

यदि आप अपने घर में सीएफएल (कॉम्पैक्ट फ्लोरोसेंट लैंप) या एलईडी (प्रकाश उत्सर्जक डायोड) बल्ब का उपयोग करते हैं, तो आप 60 से 70% बिजली बचा सकते हैं। इन दोनों में से एलईडी बल्ब सीएफएल बल्ब से काफी बेहतर हैं। घर में अच्छी गुणवत्ता वाली बिजली के तारों के इस्तेमाल से न सिर्फ बिजली की बचत होगी बल्कि बिजली के बिल को कम करने में भी मदद मिलेगी।

सार्वजनिक परिवहन जैसे बसों, ट्रेनों आदि का अधिक से अधिक समय उपयोग करें। यदि आप थोड़ी दूर जाना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए साइकिल का उपयोग करना चाहिए। और अगर आप टहलने जाते हैं, तो इससे न केवल ईंधन की बचत होगी बल्कि आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। तो, हम आपको सलाह देंगे कि यदि आप रोजाना थोड़ी दूरी भी चलते हैं, तो भी आप स्वस्थ रहेंगे और यह एक कदम है पर्यावरण की रक्षा करें।

 

7. बिजली के उपकरणों का उपयोग सीमित करें

आपको एयर कंडीशनर और रूम हीटर के उपयोग को सीमित करना होगा। ये उपकरण न केवल पर्याप्त मात्रा में ईंधन ऊर्जा का उपयोग करते हैं बल्कि आपके स्वास्थ्य के साथ-साथ पूरे पर्यावरण पर भी हानिकारक प्रभाव डालते हैं। आप अपने घर के तापमान को कम कर सकते हैं या इसे पर्यावरण के अनुकूल तरीके से गर्म कर सकते हैं।

8. वाहन को सही गियर में चलाएं

कार चलाते समय इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि कार के गियर को सावधानी से बदलना जरूरी है। यात्रा के दौरान कम से कम गियर बदलने की प्रक्रिया का प्रयोग करें।

जरूरत पड़ने पर गियर बदलें जब वाहन की गति केवल उपकरण बढ़ाने से अधिक हो और गति के अनुसार गियर कम करें। ध्यान रहे कि ज्यादा से ज्यादा गियर के इस्तेमाल से ईंधन की ज्यादा खपत होती है।

 

अत्यधिक ईंधन की खपत को कम करना क्यों महत्वपूर्ण है?

पेट्रोल या डीजल से चलने वाले मोटर वाहनों से निकलने वाला धुआं पृथ्वी की ओजोन परत को नष्ट कर रहा है। ओजोन परत में छेद के कारण हमारे ग्रह का तापमान दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है।

ये सभी हमारे स्वास्थ्य को बुरी तरह प्रभावित कर रहे हैं। साथ ही यह हमारे पर्यावरण के प्राकृतिक संतुलन को भी नुकसान पहुंचा रहा है। अब समय जीवाश्म ईंधन के उपयोग को कम करने और ईंधन संरक्षण के लिए ऊर्जा के वैकल्पिक स्रोतों का उपयोग करने का है।

 

निष्कर्ष

आजकल, हमारे वैज्ञानिक हमारे ईंधन को बचाने के लिए अधिक से अधिक नए नए तरीके खोज रहे हैं।

चाहे आप नवीकरणीय ईंधन या गैर-नवीकरणीय ईंधन का उपयोग कर रहे हों, आपको उपयोग की जाने वाली मात्रा के बारे में सावधान रहना चाहिए। इन मूल्यवान का दुरुपयोग न करें प्राकृतिक संसाधन. इतना ही नहीं, हमें उन्हें अपनी आने वाली पीढ़ियों के लिए बचाने की जरूरत है, बल्कि यह तथ्य भी है कि इन संसाधनों का अधिक उपयोग पर्यावरण के लिए उपयुक्त नहीं है, जो अंततः हमारे स्वास्थ्य को प्रभावित करता है।

इनमें से अधिकांश ईंधन बढ़ रहे हैं पर्यावरण प्रदूषण, विशेष रूप से इस गैर-नवीकरणीय पृथ्वी पर। इसलिए, अपने ग्रह को रहने के लिए एक बेहतर जगह बनाने के लिए, हमें ईंधन के उपयोग को सीमित करना होगा। यदि हम उपरोक्त विधियों का सही ढंग से पालन करते हैं, तो हम ईंधन का संरक्षण करने में सक्षम होंगे।

इसके साथ ही सरकार और विश्व संगठनों को भी टैक्स लगाकर ईंधन की उपलब्धता को सीमित करना चाहिए। वैकल्पिक स्रोतों जैसे सौर ऊर्जा, इलेक्ट्रिक वाहन, बायोगैस आदि को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। हर जगह ईंधन के संरक्षण के बारे में जागरूकता फैलाकर इस दिशा में महत्वपूर्ण योगदान दिया जा सकता है।

brahmastra In Hindi

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments